अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान
  • >X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    यूं तो भारत में देवी मां के कई मंदिर है, जहां आदिशक्ति विराजमान हैं। कहा जाता है इन मंदिरों की अपनी-अपनी अलग विशेषता है। आज हम आपको इनके ऐसे ही धार्मिक स्थान के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी मान्यता जानकर आप हैरान रह जाएंगे।
  • <>X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    बता दें ये मंदिर कर्नाटक राज्य के कातील के मैंगलोर से 26 कि.मी से दूर स्थित है, जिसे दुर्गा परमेश्वरी के नाम से जाना जाता है।
  • <>X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    यहां की मान्यताओं के अनुसार इस मंदिर में सदियों से अग्नि केलि नाम की एक अद्भुत परंपरा चली आ रही है, जिसमें लोग अपनी जान की परवाह किए बिना एक-दूसरे पर आग फेंकते हैं।
  • <>X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    ये परंपरा यहां केवल एक एक दिन बल्कि पूरे 8 दिनों तर उत्सव के तौर पर मनाई जाती है।
  • <>X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    ये अजीबो-गरीब पंरपरा दो गांव आतुर और कलत्तुर के लोगों के बीच में होती है।  लोगों द्वारा बताए अनुसार अनोखी सी इस परंपरा का यह उत्सव शुरु करने से पहले देवी मां की शोभा यात्रा निकाली जाती है और उसके उपरांत तालाब में डुबकी लगाई जाती है।
  • <>X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    बता दें कि तालाब में डुबकी लगाने के बाद दोनों गांवों के लोगों के बीच अलग-अलग दल बना लिए जाते हैं। दल बनाने के बाद हाथों में नारियल की छाल से बनी मशाल लेकर एक दूसरे के सामने खड़े हो जाते हैं।
  • <>X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    फिर एक-दूसरे पर जलती हुई मशालों को फेंका जाता है। मशालों को फेंकने का यह सिलसिला करीब 15 मिनट तक चलता है। परंतु बता दें कि इस परंपरा के तहत एक शख्स सिर्फ पांच बार ही जलती मशाल फेंक सकता है।
  • <X

    अद्भुत व अनोखी है इस मंदिर की परंपरा, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

    अग्नि केली की नामक की इस परंपरा को लेकर लोगों का कहना है कि ये परंपरा व्यक्ति के दुखों को दूर करने में मदद करती है। इससे व्‍यक्ति की आर्थिक व शारीरिक रूप से संबंधित हर तकलीफ़ दूर हो जाती है।