• >X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    सावन का महीना शिवभक्तों के लिए खास होता है। जिसमें शिवभक्त भोले भंडारी को प्रसन्न करने के लिए उनका अभिषेक करते हैं। इसी के चलते इलाहाबाद में एक अनोखा और हैरत अंगेज जल अभिषेक देखने को मिला है।
  • <>X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    अनोखे शिवभक्तों ने भगवान शिव का अभिषेक विषैले सांपों और बिजखोपड़ों से ही कर डाला।
  • <>X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    शहर के बीचोंबीच लोकनाथ इलाके में स्थित पूर्णेश्वर महादेव मंदिर में शिवलिंग पर विषधारी सांपों, बिजखोपड़ा और बिच्छू का अभिषेक आयोजित कराया गया।
  • <>X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    भगवान शिव का विषधरों के साथ सैकड़ों विषैले जन्तुओं से अभिषेक किया गया। भोले भंडारी के इस विषैले और खतरनाक अभिषेक को देखने के लिए शिवभक्तों का तांता भी महादेव के दरबार में लगा रहा।
  • <>X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    इसके बाद मंदिर प्रांगण में खरतरनाक जहरीले सांपों का खेल शुरू हुआ। पुलिस भी वहां खड़ी सांपों का खेल देखती रही।
  • <>X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    पुजारी के मुताबिक भगवान शिव को सर्पों का साथ प्रिय है। इसलिए विषधरों ने उनका विशेष अभिषेक किया है। ये बाबा भोलेनाथ का आभूषण है जिसको हार बोला जाता है।
  • <>X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    आजकल सब फूल, माला, सोने और चांदी से बाबा का अभिषेक करते हैं। बाबा का जो जरूरी आभूषण है उसको कोई नहीं सजाता। मगर इस मंदिर में परंपरा चली आ रही है कि सांप और बिच्छु से बाबा का अभिषेक किया जाता है।
  • <X

    अनोखी भक्ति: यहां सर्प और बिजखोपड़ों से किया गया भगवान शिव का अभिषेक

    लोगों का बाबा पर इतना विश्वास है कि उन्हें कोई अनहित नहीं होता और सब कार्य अच्छे से सम्पन्न होता है।