इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने
  • >X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    इंडोनेशिया में ज्वालामुखी फटने के बाद आई सुनामी के कारण मची तबाही के कारण 281 लोगों की मौत हो गई और 1,000 से ज्यादा लोग घायल हो गए।
  • <>X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी के अनुसार मृतकों की संख्या और नुकसान दोनों में बढ़ोतरी होने की संभावना है।
  • <>X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    टीवी चैनलों पर जावा के पश्चिमी पट पर स्थित मशहूर कारिता बीच पर हुए नुकसान की तस्वीरें दिखाई जा रही हैं। प्रत्यक्षर्दिशयों ने भी आंखों देखा मंजर बयान किया है।
  • <>X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान और भूभौतिकी एजेंसी के वैज्ञानिकों ने कहा कि अनाक क्राकाटाओ ज्‍वालामुखी के फटने के बाद समुद्र के नीचे भूस्खलन सुनामी का कारण हो सकता है।
  • <>X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    उन्होंने लहरों के उफान का कारण पूर्णिमा के चंद्रमा को भी बतायाजा रहा है। इंडोनेशिया की भूगर्भीय एजेंसी सुनामी की असली वजह पता लगाने में जुटी है।
  • <>X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    शुरू में अधिकारियों ने दावा किया था कि यह सुनामी नहीं है और सिर्फ समुद्र में उठीं ऊंची लहरें हैं। नुग्रोहो ने बाद में ट्विटर पर हुई गलती के लिए माफी मांगी और कहा कि क्योंकि भकूंप नहीं आया था, इसलिए शुरू में घटना का कारण पता लगाना मुश्किल था।
  • <>X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    सुनामी का सबसे ज्यादा प्रभाव जावा के बांतेन प्रांत के पांडेंगलांग क्षेत्र पर पड़ा है नुग्रोहो ने कहा कि खोज और बचाव के लिये बुरी तरह प्रभावित इलाकों में भारी मात्रा में उपकरण भेजे जा रहे हैं।
  • <X

    इंडोनेशिया में सुनामी ने फिर मचाया कहर, तबाही की तस्वीरें आईं सामने

    इंडोनेशिया में दुनिया में सबसे अधिक भूकंप और सुनामी आते हैं क्योंकि दुनिया में सबसे अधिक सक्रिय ज्वालामुखी इसी क्षेत्र में पड़ते हैं। इसी कारण इस देश को भौगोलिक स्थिति के आधार पर रिंग ऑफ फायर भी कहा जाता है।