जानें, 550वां प्रकाश पर्व और करतारपुर कॉरिडोर का Connection
  • >X

    जानें, 550वां प्रकाश पर्व और करतारपुर कॉरिडोर का Connection

    पाकिस्तान के नारोवाल जिले में स्थित करतारपुर गुरुद्वारा गुरु नानक देव जी की समाधि पर बना हुआ है। कहा जाता है
  • <>X

    जानें, 550वां प्रकाश पर्व और करतारपुर कॉरिडोर का Connection

    यहां गुरु नानक जी अपने जीवन के शुरुआती समय में खेती का काम किया करते थे।
  • <>X

    जानें, 550वां प्रकाश पर्व और करतारपुर कॉरिडोर का Connection

    नानक जी ने यही से 'नाम जपो, किरत करो और वंड छको' अर्थात (नाम जपें, मेहनत करें और बांट कर खाएं) का सबक दिया था।
  • <>X

    जानें, 550वां प्रकाश पर्व और करतारपुर कॉरिडोर का Connection

    धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सन 1985 में यहां जो बम गिरा था वह भी चमत्कारी शक्तियों के चलते फूटा नहीं था और उस बम को सेवाधारियों ने वहीं मढ़कर रख दिया था।
  • <X

    जानें, 550वां प्रकाश पर्व और करतारपुर कॉरिडोर का Connection

    करतारपुर गुरुद्वारे में सिखों ने गुरु नानक देव जी के पार्थिव शरीर के स्थान पर मिले फूलों की अंत्योष्टि हिंदू रीति-रिवाजों से की थी वहीं मुसलमानों ने फूलों को दफना दिया था तब से करतारपुर गुरुद्वारे में गुरु नानक देव जी की समाधि और क्रब दोनों हैं