लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें
  • >X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान और कभी उनकी पार्टी में रही जया प्रदा के बीच वाकयुद्ध ने शब्दों की सारी गरिमा खत्म कर दी। आजम खान ने कहा, ‘मैं उन्हें (जया प्रदा) रामपुर लाया। उनका असली चेहरा पहचानने में 17 साल लगे लेकिन मैं उन्हें 17 दिनों में पहचान गया।'
  • <>X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    एक जनसभा में खान के बेटे अब्दुल्ला आजम ने जयाप्रदा पर ‘अनारकली' टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ‘अली भी हमारे, बजरंग बली भी हमारे लेकिन अनारकली नहीं चाहिए।'
  • <>X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    ‘चौकीदार' शब्द उस समय अचानक सुर्खियों में आया जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करने के लिए अपने प्रचार अभियान के केंद्र में ‘चौकीदार चोर है' का नारा दिया।
  • <>X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    नरेंद्र मोदी ने दिवंगत राजीव गांधी पर टिप्पणी करके एक विवाद खड़ा कर दिया। उत्तर प्रदेश में एक रैली में मोदी ने राहुल गांधी पर हमला किया और कहा, ‘आपके पिता को उनके दरबारी मिस्टर क्लीन कहते थे लेकिन अपने जीवन के अंत में वह भ्रष्टाचारी नंबर 1 बन गए।'
  • <>X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    मायावती ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी ने ‘राजनीतिक लाभ के लिए अपनी पत्नी को छोड़ दिया', इसलिए बीजेपी में महिलाएं डरी हुई है कि प्रधानमंत्री से मिलने वाले उनके पति भी अपनी पत्नियों को छोड़ सकते हैं।
  • <>X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुस्लिग लीग को ‘ग्रीन वायरस' बताया था और कहा था कि हिंदू और मुसलमान मतदाता ‘अली-बजरंग बली' मुकाबले में है।
  • <X

    लोकसभा चुनाव 2019 में नेताओं ने लांघी मर्यादा की सारी हदें

    कांग्रेस के संजय निरुपम ने मोदी को कोरिडोर के नाम पर वाराणसी में मंदिरों को ध्वस्त करने के लिए ‘आधुनिक युग का औरंगजेब' बताया था। कई कटु बयानों में साम्प्रदायिक टिप्पणियां भी रही।