15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था
  • >X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    धर्म डेस्क: नवरात्रि के पावन पर्व में देवी देवताओं के प्रति श्रद्धालुओं की आस्था और भक्ति देखने को बनती हैं। एक ओर वैश्विक महामारी का दौर है तो दूसरी ओर उसके बाद भी भक्त अपनी भक्ति करने मंदिर पहुंचे रहे हैं।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    नवरात्रि के खास मौके पर हम आपको बताने वाले हैं छत्तीसगढ़ सरगुजा जिले के वनेश्वरी मंदिर के बार में, जो छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर शहर से महज 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 15 एकड़ वनों से घिरा हुआ है।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    वनदेवी का ये मंदिर में लाखों हीं श्रद्धालु अपनी मनोकामना लेकर आते हैं और उनके पूरा हो जाने माता रानी को भेंट चढ़ाते हैं। मंदिर के पुजारी के अनुसार वन देवी की उत्पत्ति आकस्मिक हुई थी।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    बताया जाता है वनदेवी मंदिर में हाथी नुमा विशाल पत्थर है जिसे हाथी पखना के नाम से जाना जाता है। पत्थरों से निकली हुई वन देवी की प्रतिमा में लोगों की आस्था है। जिसके कारण हर साल नवरात्र में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ती है।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    परंतु वैश्विक महामारी के चलते इस साल यहां लोगों की भीड़ तो कम है। लेकिन इसके बावज़ूद लोगों की श्रद्धा और आस्था वनदेवी मंदिर में देखने को बनती है।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    कहा जाता है वन देवी मंदिर को फिर से पहचान देने के लिए वन विभाग ने अवैध लकड़ी की कटाई पर रोक लगाई थी और 15 एकड़ के मैदान में वृक्षारोपण कराकर वन तैयार कर दिया।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    जिसके कारण आज शहरी और ग्रामीणों क्षेत्रों के भक्तों का यहां आना-जाना लगा रहता है।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    यहां आने वाल प्रत्येक व्यक्ति हरे भरे लहलहाते पेड़ों को देखकर मंत्रमुग्ध हो जाता है।
  • <>X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    तो वहीं यहां की प्रचलित एक मान्यता के अनुसार यहां रहने वाले कबूतर शांति, समृद्धि और धन का प्रतीक माना जाता है।
  • <X

    15 एकड़ में फैले वनेश्वरी देवी मंदिर से जुड़ी है लाखों लोगों की आस्था

    गौरतलब है कि यहां 7 पुत्रों के बराबर एक वृक्ष लगाने में अधिक पुण्य की प्राप्ति मिलती है।