• >X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    राजस्थान के सवाई माधोपुर में स्थित चौथ माता का मंदिर अपनी प्राचीनता और सुप्रसिद्धि के लिए जाना जाता है। लोक मान्यताओं के अनुसार इसकी स्थापना 1451 में राजा भीम सिंह ने की थी।
  • <>X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    इस मंदिर की प्राचीनता न केवल राजस्थान बल्कि विदेशों तक भी फैली हुई है। लेकिन यहां करवा चौथ, भाद्रपद चौथ, माघ चौथ और लक्खी मेला पर लाखों श्रद्धालु माता के दर्शन को आते हैं।
  • <>X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    बता दें कि कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी पर करवा चौथ का पर्व मनाया जाता है। इस दिन चौथ माता के मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया जाता है।
  • <>X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    पौराणिक मान्यताओं के अनुसार चौथ माता गौरी यानि देवी पार्वती का ही एक रूप हैं। करवा चौथ के दिन चौथ माता की पूजा करने से अखंड सौभाग्य का वरदान प्राप्त होता है और दांपत्य जीवन में भी सुख बढ़ता है।
  • <>X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    करवा चौथ पर देश-विदेश से कई विवाहित जोड़े यहां आते हैं और व्रत रखते हैं। मंदिर को देखने पर प्रतीत होता है कि यह मंदिर राजपूताना शैली में सफ़ेद संगमरमर का बना हुआ है।
  • <>X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    इस मंदिर में चौथ माता के साथ भगवान गणेश और भैरवनाथ भी विराजमान हैं। मंदिर की उंचाई लगभग 1100 फीट है। यहां पहुंचने के लिए 700 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं।
  • <>X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    कहा जाता है कि हाड़ौती क्षेत्र के लोग हर शुभ काम करने से पहले सर्वप्रथम चौथ माता को निमंत्रण देते हैं, उसके बाद ही वह अपने शुभ काम को अंजाम देते हैं। माता में आस्था होने की वजह से बूंदी राजघराने में आज तक इन्हें कुलदेवी के रूप में पूजा जाता है।
  • <X

    Kundli Tv- करवा चौथ स्पेशल: भारत में यहां है चौथ माता का मंदिर

    मान्यता है कि मंदिर में जल रही अखण्ड ज्योति सैकड़ों सालों से प्रज्वलित है। वैसे तो यहां पर रौज़ाना भक्तों की भीड़ देखने को मिलती है परंतु करवा चौथ पर यहां का नज़ारा कुछ अलग ही होता है।