• >X

    Kundli Tv- जानें, किसके लिए कोयल बने श्रीकृष्ण

    दिल्ली से लगभग 128 कि.मी की दूरी और मथुरा से 60 कि.मी को दूरी कोसी कला नाम के स्थान पर मंदिर का इतिहास श्रीकृष्ण और शनिदेव से जुड़ा हुआ है। 20 एकड़ में फैले इस मंदिर में शनि देव मंदिर, श्री देव बिहारी मंदिर, श्री गोकुलेश्वर महादेव मंदिर, श्री गिरिराज मंदिर, श्री बाबा बनखंडी मंदिर प्रमुख हैं।
  • <>X

    Kundli Tv- जानें, किसके लिए कोयल बने श्रीकृष्ण

    इसके अलावा यहां दो प्राचीन सरोवर और गोऊ शाला भी हैं। यहां की लोक मान्यता के अनुसार है जो भी यहां आकर शनि महाराज के दर्शन करता है उसको कभी भी शनि की दशा, साढ़ेसाती और ढैय्या में शनि नहीं सताते।
  • <>X

    Kundli Tv- जानें, किसके लिए कोयल बने श्रीकृष्ण

    पौराणिक कथाओं के अनुसार शनि महाराज भगवान श्री कृष्ण के भक्त माने जाते हैं। मान्यता है कि कृष्ण के दर्शनों के लिए इस ही स्थान पर शनि महाराज ने कठोर तपस्या की।
  • <>X

    Kundli Tv- जानें, किसके लिए कोयल बने श्रीकृष्ण

    शनि की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान श्री कृष्ण ने इसी वन में कोयल के रूप में शनि महाराज को दर्शन दिए थे। इसलिए यह स्थान कोकिला वन के नाम से जाना जाता है।
  • <>X

    Kundli Tv- जानें, किसके लिए कोयल बने श्रीकृष्ण

    श्री कृष्ण ने कोयल बन दिए शनिदेव को दर्शन भगवान् श्री कृष्ण शनि देव की तपस्या से प्रसन्न हो गए और शनि देव के सामने कोयल के रूप में प्रकट होकर दर्शन दिए।
  • <X

    Kundli Tv- जानें, किसके लिए कोयल बने श्रीकृष्ण

    गरूड़ पुराण में व नारद पुराण में कोकिला बिहारी जी का उल्लेख आता है। तो शनि महाराज का भी कोकिलावन में विराजना भगवान कृष्ण के समय से ही माना जाता है