Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे
  • >X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    भूटान एकमात्र ऐसा देश है, जिसने विकास से ज्यादा कुदरत को प्राथमिकता दी है। पूरी दुनिया में सबसे खुशहाल देश के रूप में जाना जाने वाला भूटान प्रकृति प्रेमियों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं है।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    इस देश में जंगल, पहाड़ और उससे जुड़े मैत्रीपूर्ण मानव समाज को देखना किसी के लिए भी खास अनुभव होता है। भूटान जाकर उसकी आत्मा को महसूस करना हो तो आप पारो की ओर रुख कर सकते हैं।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    यह भूटान की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। राजधानी थिम्पू के पश्चिम में स्थित पारो शहर घाटियों, प्रकृति के खूबसूरत नजारों और शानदार बौद्ध वास्तुकला के संगम के तौर पर मौजूद है।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    पारो घाटी में स्थित लाखांग पुराने बौद्ध मठों में से एक है। इसे लेकर कई कहानियां हैं जो यहां के लोगों के अतीत के बारे में बताती हैं। अपनी यात्रा में पारो शहर से उत्तर की दिशा में कुछ दूरी पर मौजूद इस मठ पर जरूर जाएं।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    बताया जाता है कि बौद्ध धर्म गुरु आचार्य पद्मसंभव पारो की यात्रा के क्रम में यहां पधारे थे। बौद्ध धर्म को मानने वाले लोगों के लिए यह बहुत ही पावन जगह है। इस मंदिर में प्रतिमाओं और लकड़ी पर की गई कारीगरी देखने लायक है।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    लगभग 3,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित तख्तसांग मठ या टाइगर्स नैस्ट, जैसा कि यह लोकप्रिय है, पारो ही नहीं बल्कि भूटान की पहचान बन चुका है। यह मठ ऐसा दिखता है जैसे पहाड़ी पर लटका हुआ हो।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    पारो घाटी में इसे बौद्ध भिक्षुओं के ठिकाने के रूप में बनाया गया था। पहाड़ी पर असंभव लगने वाली चढ़ाई को पार करके ही आप इस मठ तक पहुंच सकते हैं।
  • <>X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    भूटान की लोककथाओं की मानें तो भगवान पद्मसंभव लोगों को राक्षस से बचाने के लिए यहां बाघिन पर सवार होकर आए थे। उन्होंने राक्षस का अंत किया और यहीं तपस्या में लीन हो गए।
  • <X

    Paro 2021: इस पावन स्थान के सुंदर नजारों में खो से जाएंगे

    यही कारण है कि इसे टाइगर्स नैस्ट कहा जाता है। आप यहां पहुंच कर सुंदर नजारों में खो से जाएंगे।